10 शीर्ष एवं मशहूर भारतीय चर्च - 10 Most Popular Churches In India

Share on

ईस्ट इंडिया कंपनी के भारत में आते ही उन्होंने उपासना के लिए भारत में चर्च बनवाना शुरू किया | धीरे धीरे लोग भी ईसाई धर्म से प्रभावित होकर जीसस की उपासना करने लगे और फिर देश भर में गिरिजाघरों का निर्माण होना शुरू हो गया | दक्षिण भारत में सर्वाधिक मात्रा में इसाई निवास करते हैं और सबसे भव्य गिरिजाघर भी उन्हीं क्षेत्रों में स्थित हैं |
तो आइये आज आपको बताते हैं कि भारतवर्ष में सबसे प्रसिद्ध चर्च कौन कौन से हैं –

अगर आपको इस सूची में कोई भी कमी दिखती है अथवा आप कोई नयी प्रविष्टि इस सूची में जोड़ना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए कमेन्ट बॉक्स में जरूर लिखें |

वल्लारपदम चर्च, केरल - Vallarpadam Church, Kerala

ऑवर लेडी ऑफ रैनसम के नाम भी जाना जाने वाला वल्लारपदम चर्च एर्नाकुलम का एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण है। इसे यहां के लोगों द्वारा प्यार से ईसा की मां मेरी को वल्लार्पदाथाम्मा के नाम से पुकारा जाता है। वल्लारपदम चर्च का निर्माण 1524 में कुछ पुर्तगालियों ने कराया था। हालांकि, दुर्भाग्य से 1676 में एक ... अधिक पढ़ें


27

सांता क्रूज़ बेसिलिका, कोच्चि - Santa Cruz Basilica, Kochi

कोच्चि में स्थित सांता क्रूज कैथेड्रल बेसिलिका भारत में प्रसिद्ध आठ बेसिलिका में से एक है। केरल का यह विरासत भवन भारत में बेहतरीन और भव्य चर्चों में से एक है। यह चर्च भारत का दूसरा सबसे पुराना चर्च है और यहाँ भक्ति का इतिहास, कलात्मकता और वास्तुशिल्प भव्यता शामिल है। यह चर्च भारत के ... अधिक पढ़ें


25

कैथेड्रल ऑफ द सीक्रेट हार्ट, दिल्ली - Cathedral of the Sacred Heart, Delhi

कैथेड्रल ऑफ द सीक्रेट हार्ट दिल्ली, भारत में सबसे पुराना और सबसे महत्वपूर्ण चर्चों में से एक है। यह चर्च शुद्ध सफेद संगमरमर से बनाया गया है और आध्यात्मिकता का एक शांत, शांत अनुभव प्रदान करता है। यह चर्च केन्द्रीय दिल्ली में यीशु और मैरी और सेंट कोल्बा के कॉन्वेन्ट के दो लोकप्रिय स्कूलों के ... अधिक पढ़ें


23

सेंट केथेड्रल चर्च, गोवा - Se Cathedral Church, Goa

गोवा का सेंट केथेड्रल चर्च भारत का सबसे बड़ा चर्च है। ये चर्च अलेक्जेंड्रिया के कैथरीन को समर्पित है। इस चर्च की लंबाई 250 फीट, चौड़ाई 181 फीट और ऊँचाई 115 फीट है। इस चर्च का निर्माण पुर्तगाली शासन में रोमन केथोलिकों द्वारा 16वीं शताब्दी में किया गया था । इसके निर्माण में लगभग 75 ... अधिक पढ़ें


22

ऑल सेंट कैथेड्रल, इलाहाबाद - All Saints Cathedral, Allahabad

चर्च ऑफ स्टोन्स के नाम से प्रसिद्ध ऑल सेंट कैथेड्रल चर्च इलाहाबाद में स्थित एंग्लिकन कैथेड्रल चर्च है। 19वीं शताब्दी में निर्मित ये चर्च भारत में अपने शासन के दौरान ब्रिटिश द्वारा निर्मित उत्कृष्ट गौथिक शैली इमारतों में से एक है। इसकी डिजाइन प्रसिद्ध ब्रिटिश वास्तुकार विलियम इमरसन ने तैयार की थी, जिन्होंने कोलकाता के ... अधिक पढ़ें


21

क्राइस्ट चर्च, शिमला - Christ Church, Shimla

हिल स्टेशन शिमला में स्थित राजधानी का ताज कहे जाना वाला क्राइस्ट चर्च उत्तर भारत में मेरठ की सेंट जॉन्स चर्च के बाद दूसरा सबसे पुराना चर्च है। इसकी खूबसूरती आज भी लोगों को लुभाती है। इसका निर्माण 1846 से 1857 के बीच अंग्रेजी शासनकाल की अवधि के दौरान किया गया था। रिज से देखने ... अधिक पढ़ें


19

सेंट फ्रांसिस चर्च, कोची - St. Francis Church, Kochi

सेंट फ्रांसिस चर्च केरल के कोच्ची शहर, भारत में स्थित 1503 में निर्मित सबसे प्राचीन यूरोपीय चर्च है। कई हमलों और अनगिनत समझौतों के साक्षी इस चर्च को कोच्चि के सांस्कृतिक इतिहास में महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त है। ऐसा कहा जाता है कि महान पुर्तगाली नाविक वास्को-डि-गामा को निधन के बाद उन्हें इसी चर्च में दफनाया ... अधिक पढ़ें


16

वेलंकन्नी चर्च, तमिलनाडु - Velankanni Church, Tamilnadu

बेस्टिल ऑफ अवर लेडी ऑफ गुड हेल्थ के रूप में जाना जाने वाला वेलंकन्नी चर्च, भारत के तमिलनाडु राज्य में स्थित एक प्रसिद्ध चर्च है। सितंबर के महीने में यहाँ वार्षिक उत्सव मनाया जाता है। स्थानीय लोगों के लिए यह त्योहार बहुत महत्व रखता है और वे लोग इसे बहुत उत्साह के साथ मनाते हैं। ... अधिक पढ़ें


13

सेंट फिलोमेना चर्च, मैसूर - St. Philomena’s Church, Mysore

सेंट जोसेफ चर्च के नाम से भी जाना जाने वाला सेंट फिलोमेना चर्च कर्नाटक के मैसूर शहर में एक प्रमुख पर्यटक स्थल के रूप में प्रचलित है। भारत के सबसे ऊंचे चर्चों में से एक इस चर्च का निर्माण कार्य 1933 में महाराजा कृष्णराजा वुडेयार ने शुरू किया था और गौथिक वास्तुशिल्पीय शैली में बनाया ... अधिक पढ़ें


11

सेंट पॉल कैथेड्रल, कोलकाता - St. Paul Cathedral, Kolkata

सेंट पॉल कैथेड्रल चर्च उत्तर भारत के कोलकाता, पश्चिम बंगाल में स्थित चर्च है, जो अपने इतिहास, संस्कृति और धार्मिक प्रासंगिकता के लिए देश भर में प्रसिद्ध है। शहर का प्रमुख और ऐतिहासिक स्थल होने की वजह से हर साल यहाँ हर दिन पूरे विश्व से हज़ारों की संख्या में पर्यटक इसके दर्शन को आते ... अधिक पढ़ें


9

Leave a Comment