Change Language to English

10 प्रसिद्ध भारतीय गुरूद्वारे

धार्मिक विविधिताओं के देश भारत में हिन्दू-मुस्लिम-सिख-इसाई-आपस में हैं भाई-भाई | सिख धर्म के पवित्र स्थल गुरूद्वारे में लोग मत्था टेकने और वाहे गुरुजी से अपनी मुरादें मांगने आया करते हैं | गुरुद्वारों की एक खास बात और होती हैं कि यहाँ प्रतिदिन 24 घंटे लंगर (प्रसाद-भोजन) की व्यवस्था रहती है जिससे कि दर पे आया कोई भी बंदा भूखा न रहे | कई स्थानों पर तो गरीबों के लिए दो वक्त के खाने का सहारा गुरूद्वारे का लंगर ही होता हैं |

कुछ अत्यंत ही खूबसूरत स्थानों से एक गुरुद्वारा महान सिक्ख धर्म का सबसे पवित्र धार्मिक स्थल है। ये निर्मल स्थान हैं जो सभी मनुष्यों को त्याग, बलिदान और करुणा का पाठ पढ़ाते हैं। ये महान स्थल पूरी मानव जाति को अध्यात्म का पाठ तो पढ़ाते ही हैं साथ ही समानता की शिक्षा भी देते हैं। भारत भर में हजारों गुरुद्वारे हैं और यहाँ हमने सबसे प्रसिद्ध भारतीय गुरुद्वारों को सूचीबद्ध किया है। ये कुछ सबसे विशाल और सलीके से प्रबंधित स्थान हैं जो बेहद आकर्षक भी हैं। वे सभी धर्म, संप्रदाय और समुदाय के लोगों का स्वागत करते हैं और यहां सभी लोगों को समान स्तर पर देखा जाता है। इन स्थानों पर आपको अवश्य जाना चाहिए और लंगर भी छकना चाहिए। ये गुरूद्वारे कई कारणों से प्रसिद्ध हैं। कुछ काफी विशाल हैं, कुछ की बनावट लाजवाब हैं और कुछ अपने शानदार अतीत के लिए विख्यात हैं।


हरि मंदिर साहिब, पंजाब 2

पंजाब के अमृतसर में स्थित श्री हरिमंदिर साहिब गुरुद्वारा जिसे दरबार साहिब या स्वर्ण मन्दिर भी कहा जाता है, सिख धर्म के लोगों का सबसे पवित्र स्थल माना जाता है। सिखों के पांचवें गुरु अर्जुनदेव जी ने स्वर्ण मं... अधिक पढ़ें

हजूर साहिब गुरुद्वारा, महाराष्ट्र 3

महाराष्ट्र के नांदेड़ शहर में स्थित हुजुर साहिब का ऐतिहासिक गुरुद्वारा गोदावरी नदी से कुछ ही दूरी पर स्थित है। हजूर साहिब गुरुद्वारा सिख धर्म के पाँच सत्ता के सिंहासन में से एक का घर है, जिसे सच-खण्ड कहा जाता... अधिक पढ़ें

श्री हेमकुंड साहिब, उत्तराखंड 4

उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित हेमकुंड साहिब या गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब जी सिखों का एक धार्मिक स्थल है। यह हिमालय में 4632 मीटर की ऊँचाई पर एक बर्फ़ीली झील किनारे सात पहाड़ों के बीच स्थित है।... अधिक पढ़ें

बाबा अटल साहिब, पंजाब 5

स्वर्ण मंदिर के करीब स्थित बाबा अटल साहिब गुरुद्वारा अमृतसर के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में से एक है। 1778-1784 में निर्मित, यह पंजाब की संस्कृति और परंपरा की समृद्ध सुंदरता को शामिल करता है। माना जाता है कि... अधिक पढ़ें

श्री पटना साहिब, बिहार 6

पटना शहर में स्थित तख्त श्री पटना साहिब या श्री हरमंदिर जी पटना साहिब सिख आस्था से जुड़ा यह एक ऐतिहासिक दर्शनीय स्थल है। सिख धर्म के अनुयाइयों के लिए स्वर्ण मंदिर श्री हरिमंदिर साहिब के बाद दूसरे नंबर पर तख्त श्री पटना साह... अधिक पढ़ें

गुरुद्वारा रिवालसर साहिब, हिमाचल प्रदेश 7

हिमाचल प्रदेश के मंडी क़स्बे में स्थित रिवालसर गुरूद्वारा सिखों के 10वें गुरू गोविंद सिंह को समर्पित एक प्राचीन तीर्थ है। कहा जाता है कि यहां सिख समुदाय ने एकत्र होकर मुगल शासक औरंगजेब से लड़ाई लड़ी... अधिक पढ़ें

बंगला साहिब, नई दिल्ली 8

नई दिल्ली में स्थित गुरुद्वारा बंगला साहिब दिल्ली के सबसे महत्वपूर्ण गुरुद्वारों में से एक है। यह गुरूद्वारा सिक्खों के 8वें गुरू गुरू हरकिशन से जुड़े होने के कारण प्रसिद्ध है। इस गुरूद्वारे में एक 'सरोवर' ना... अधिक पढ़ें

पत्थर साहिब, लद्दाख 9

जम्मू और कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में स्थित गुरुद्वारा पत्थर साहिब गुरू नानक की याद में निर्मित एक सुंदर गुरुद्वारा है। यह गुरुद्वारा सिख धर्म के संस्थापक और पहले गुरु नानक देव जी की स्मृति में बनाया गया था। गुरु नानक दे... अधिक पढ़ें

फतेहगढ़ साहिब, पंजाब 10

पंजाब के फतेहगढ़ साहिब जिला में स्थित गुरुद्वारा फतेहगढ़ साहिब सिखों का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह जिला सिक्‍खों की श्रद्धा और विश्‍वास का प्रतीक है। यहीं पर वर्ष 1704 में साहिबज़ादा फतेहसिंह और साहिबज़ादा जोरावर सिंह को ... अधिक पढ़ें

पोंटा साहिब, हिमाचल प्रदेश 11

भारत के हिमाचल प्रदेश में स्थित पोंटा साहिब गुरुद्वारा सिख संप्रदाय के लिए बहुत जाना माना तीर्थ माना जाता है। माना जाता है कि इसी जगह पर सिखों के 10वें गुरु गुरु गोबिंद सिंह ने सिख धर्म के शास्त्र दसम् ग्रंथ या 'द... अधिक पढ़ें

अगर आपको इस सूची में कोई भी कमी दिखती है अथवा आप कोई नयी प्रविष्टि इस सूची में जोड़ना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए कमेन्ट बॉक्स में जरूर लिखें |

Keywords:

मोस्ट पॉपुलर गुरुद्वारा इन इंडिया फेमस गुरुद्वारा इन इंडिया ब्यूटीफुल गुरुद्वारा इन इंडिया टॉप गुरुद्वारा इन इंडिया

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. more information

The cookie settings on this website are set to "allow cookies" to give you the best browsing experience possible. If you continue to use this website without changing your cookie settings or you click "Accept" below then you are consenting to this.

Close