Change Language to English

15 प्रसिद्ध और सबसे लोकप्रिय भारतीय त्यौहार

त्योहारों (Festival) का हमारे जीवन में बहुत खास महत्व है। ये हमारे जीवन में उमंग और उत्साह का संचार करते हैं। साथ ही ये हमारे जीवन में प्रसन्नता और परिवर्तन का अवसर लाते हैं। इसीलिए इनका हमारे जीवन में विशेष महत्व माना जाता है।
हमारे भारत देश को अगर पर्व और त्यौहारों का देश कहा जाए तो गलत नहीं होगा। क्योंकि जितने त्यौहार हमारे देश में मनाये जाते हैं, उतने शायद ही किसी और देश में मनाये जाते होंगे। भारत अनेकता में एकता का देश है। इसकी झलक त्यौहारों के मौकों पर भी देखने को मिलती है। हमारे देश में ऐसे कई पर्व और त्योहार हैं, जिन्हें लोग बड़े ही उत्साहपूर्वक मनाते हैं।
इसीलिए आज हम आपके लिए भारत में मनाये जाने वाले सबसे लोकप्रिय और खास त्यौहारों की सूची लाये हैं।


क्रिसमस ईसाइयों का प्रसिद्ध और सबसे प्रमुख त्यौहार है। लेकिन इसे ईसाई धर्म के अलावा दूसरे धर्म के कुछ लोग भी बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं। इस त्यौहार को ईसा मसीह के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। ये हर साल 25 दिसंबर को सम्पूर्ण विश्व में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन को बड़ा दिन भी कहा जाता है। इस दिन चर्च को फूलों और रोशनी से सजाया जाता है। शाम को चर्च में प्रार्थनाएं होती हैं और केक भी काटा जाता है।

Read More

दीपावली भारत का सबसे प्रमुख हिन्दू त्यौहार है। रोशनी के इस त्यौहार को कुछ लोग ‘दीवाली’ भी कहते हैं। ‘दीपावली’ का अर्थ होता है ‘दीपों की माला’। ये त्यौहार भगवान राम के 14 वर्ष के वनवास के बाद घर वापस आने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। इस खुशी में लोग इस दिन नए कपड़े पहनकर पूजा करते हैं, पटाखे जलाते हैं और दोस्तों और रिश्तेदारों में मिठाइयां बांटते हैं। इसे प्रति वर्ष बड़ी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन सभी अपने घर एवं रास्तों को दीपक एवं मोमबत्ती आदि के प्रकाश से रोशन करते हैं।

Read More

नवरात्रि एक महत्वपूर्ण हिंदू त्यौहार है। इसे पूरे भारत में महान उत्साह के साथ मनाया जाता है। खासकर ये गुजरात में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। यहां इस दौरान 9 दिन का उत्सव होता है, जिसमें लोग सुन्दर और रंगीन पारंपरिक कपड़ों में गरबा और डांडिया खेलते हैं। नवरात्रि के दौरान दुर्गा के 9 स्वरुपों की पूजा होती है- शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघण्टा, कूष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिदात्री | इन्हें ही नवदुर्गा कहते हैं।

Read More

गणेश चतुर्थी भी हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है। ये त्यौहार पहले महाराष्ट्र में मनाया जाता था, लेकिन अब इसे भारत के अन्य राज्यों में भी बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाता है। हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवन गणेश का जन्म हुआ था। इसीलिए इस दिन भगवान गणेशजी की पूजा की जाती है। कई प्रमुख जगहों पर भगवान गणेश की बड़ी प्रतिमा स्थापित की जाती है। इस प्रतिमा का 9 दिनों तक पूजन किया जाता है। 9 दिनों बाद बड़े ही धूम-धाम से श्री गणेश प्रतिमा को जल में विसर्जित किया जाता है।

Read More

5

होली

Like Dislike Button
66Votes

होली भी हिन्दुओं का एक प्रसिद्द त्यौहार है। इसको रंगों के त्यौहार के रूप में जाना जाता है। ये त्यौहार हर साल फाल्गुन माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन लोग होलिका दहन करते हैं और एक-दूसरे से गले मिलते हैं। इसके बाद रंग-बिरंगे विभिन्न रंगों से एक दूसरे को रंग लगाते हैं। ये त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत और बसंत के आगमन का प्रतीक है।

Read More

6

दशहरा

Like Dislike Button
60Votes

दशहरा भारत के प्रसिद्ध त्यौहारों में से एक है। इसे विजयादशमी या आयुध-पूजा के रूप में भी जाना जाता है। इसे भी हिन्दुओं के प्रसिद्ध त्यौहार के रूप में जाना जाता है। इस दिन भगवान श्री राम ने लंकापति रावण को मारकर विजय प्राप्त करी थी। इसीलिए इसे असत्य पर सत्य की जीत के रूप में मनाया जाता है। ये त्यौहार विभिन्न रूपों में देशभर में मनाया जाता है। कई जगह तो इसके उपलक्ष्य में रामलीला का आयोजन भी किया जाता है। जिसके बाद दशहरा पर यहां रावण, कुम्भकरण और मेघनाथ के पुतले जलाए जाते हैं।

Read More

कृष्ण जन्माष्टमी हिन्दुओं के सबसे महत्वपूर्ण धार्मिक त्यौहारों में से एक है। इस त्यौहार को गोकुलाष्टमी, कृष्णाष्टमी, श्रीजयंती के नाम से भी जाना जाता है। इसको भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। मथुरा और वृन्दावन में जन्माष्टमी का ये त्यौहार बहुत लोकप्रिय है। इस दिन कृष्ण मंदिरों में भव्य सजावट, प्रार्थना, नृत्य समारोह किये जाते हैं। साथ ही इस दिन लोग दिनभर व्रत रखते हैं और रात 12 बजे विशेष भोजन के साथ इस व्रत को खोलते हैं। महाराष्ट्र में ये त्यौहार जन्माष्टमी दही हांडी के लिए विख्यात है।

Read More

रक्षा बंधन जिसे राखी का त्यौहार भी कहते हैं। राखी का ये पवित्र त्यौहार हिन्दुओं के बीच मनाया जाता है। ये त्यौहार भी हिन्दू भाई और बहनों द्वारा सम्पूर्ण भारतवर्ष में अत्यंत हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन बहन अपने भाई की आरती उतारती है, उसे तिलक लगाती है, उसकी कलाई पर राखी बांधती है और भाई की लम्बी उम्र की कामना करती है। बदले में भाई अपनी बहन को उसकी रक्षा करने का वचन देता है। ये सिर्फ एक त्यौहार नहीं बल्कि हमारी परंपराओं का प्रतीक है।

Read More

ईद या ईद-उल-फितर मुस्लिम समुदाय का प्रमुख त्यौहार है। ये त्योहार दुनिया भर के मुसलमानों का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। इस दिन मुस्लिम समुदाय के लोग नये कपड़े पहनकर मस्जिद जाकर नमाज पढ़ते हैं। और बाद में एक-दूसरे से गले मिलते हैं। बड़े लोग छोटे बच्चों को ईद के उपहार के रूप में ईदी भी देते हैं। इस त्यौहार को मुसलमानों के पवित्र महीने रमजान का समापन माना जाता है। मुस्लिम समुदाय में रमजान के महीने का बहुत महत्व है। इस दौरान ये लोग दिनभर उपवास रखते हैं।

Read More

छठ पूजा | Chhath Pooja

छठ पर्व, छठ या षष्‍ठी पूजा कार्तिक शुक्ल पक्ष के षष्ठी को मनाया जाने वाला एक हिन्दू पर्व है। सूर्योपासना का यह अनुपम लोकपर्व मुख्य रूप से बिहार, झारखण्ड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और नेपाल के तराई क्षेत्रों में मनाया जाता है। यहा पर्व बिहारीयो का सबसे बड़ा पर्व है ये उनकी संस्कृति है। छठ पर्व बिहार मे बड़े धुम धाम से मनाया जाता है। ये एक मात्र ही बिहार या पूरे भारत का ऐसा पर्व है जो वैदिक काल से चला आ रहा है और ये बिहार कि संस्कृति बन चुका हैं। यहा पर्व बिहार कि वैदिक आर्य संस्कृति की एक छोटी सी झलक दिखाता हैं। ये पर्व मुख्यः रुप से ॠषियो द्वारा लिखी गई ऋग्वेद मे सूर्य पूजन, उषा पूजन और आर्य परंपरा के अनुसार बिहार मे यहा पर्व मनाया जाता हैं।

बिहार मे हिन्दुओं द्वारा मनाये जाने वाले इस पर्व को इस्लाम सहित अन्य धर्मावलम्बी भी मनाते देखे गये हैं। धीरे-धीरे यह त्योहार प्रवासी भारतीयों के साथ-साथ विश्वभर में प्रचलित हो गया है। छठ पूजा सूर्य, उषा, प्रकृति,जल, वायु और उनकी बहन छठी म‌इया को समर्पित है ताकि उन्हें पृथ्वी पर जीवन की देवतायों को बहाल करने के लिए धन्यवाद और कुछ शुभकामनाएं देने का अनुरोध किया जाए। छठ में कोई मूर्तिपूजा शामिल नहीं है।

Read More

लोहड़ी सिख समुदाय के लोगों का एक प्रसिद्द त्यौहार है। ये त्यौहार मकर संक्रान्ति के एक दिन पहले मनाया जाता है। वैसे तो ये सम्पूर्ण भारत में मनाया जाता है। लेकिन विशेष रूप से इसे उत्तर भारत में पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू राज्यों में मनाया जाता है। इस दिन परिवार और आस-पड़ोस के लोग रात्रि में खुले स्थान में मिलकर आग के किनारे घेरा बना कर नाचते हैं। इसके बाद ये मिलकर रेवड़ी, मूंगफली, लावा आदि खाते हैं।

Read More

बुद्ध पूर्णिमा Buddha's Birthday
बुद्ध पूर्णिमा (वेसक या हनमतसूरी) बौद्ध धर्म में आस्था रखने वालों का एक प्रमुख त्यौहार है। यह बैसाख माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था, इसी दिन उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई थी और इसी दिन उनका महानिर्वाण भी हुआ था।563 ई.पू. बैसाख मास की पूर्णिमा को बुद्ध का जन्म लुंबिनी, शाक्य राज्य (आज का नेपाल) में हुआ था। इस पूर्णिमा के दिन ही 483 ई. पू. में 80 वर्ष की आयु में 'कुशनारा' में में उनका महापरिनिर्वाण हुआ था। वर्तमान समय का कुशीनगर ही उस समय 'कुशनारा' था। इस वर्ष 2020 में बुद्ध पूर्णिमा 7 मई को है

Read More

13

पोंगल

Like Dislike Button
3Votes
पोंगल Pongal
पोंगल (तमिळ - பொங்கல்) तमिल हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। यह प्रति वर्ष 14-15 जनवरी को मनाया जाता है। इसकी तुलना नवान्न से की जा सकती है जो फसल की कटाई का उत्सव होता है (शस्योत्सव)। पोंगल का तमिल में अर्थ उफान या विप्लव होता है। पारम्परिक रूप से ये सम्पन्नता को समर्पित त्यौहार है जिसमें समृद्धि लाने के लिए वर्षा, धूप तथा खेतिहर मवेशियों की आराधना की जाती है।
इस पर्व का इतिहास कम से कम 1000 साल पुराना है तथा इसे तमिळनाडु के अलावा देश के अन्य भागों, श्रीलंका, मलेशिया, मॉरिशस, अमेरिका, कनाडा, सिंगापुर तथा अन्य कई स्थानों पर रहने वाले तमिलों द्वारा उत्साह से मनाया जाता है। तमिलनाडु के प्रायः सभी सरकारी संस्थानों में इस दिन अवकाश रहता है।

Read More

बैसाखी Vaisakhi
बैसाखी नाम वैशाख से बना है। पंजाब और हरियाणा के किसान सर्दियों की फसल काट लेने के बाद नए साल की खुशियाँ मनाते हैं। इसीलिए बैसाखी पंजाब और आसपास के प्रदेशों का सबसे बड़ा त्योहार है। यह रबी की फसल के पकने की खुशी का प्रतीक है। इसी दिन, 13 अप्रैल 1699 को दसवें गुरु गोविंद सिंहजी ने खालसा पंथ की स्थापना की थी। सिख इस त्योहार को सामूहिक जन्मदिवस के रूप में मनाते हैं।बैसाखी पारम्परिक रूप से हर साल 13 या 14 अप्रैल को मनाया जाता है। यह त्योहार सिख और हिन्दुओं दोनों के लिए महत्वपूर्ण है। यह अन्य नव वर्ष के त्यौहारों के साथ मेल खाता है, जो भारतीय उपमहाद्वीप के अन्य क्षेत्रों में, जैसे पोहेला बोशाख, बोहाग बिहू, विशु, पुथंडु और अन्य क्षेत्रों में वैशाख के पहले दिन मनाए जाते हैं।

Read More

15

ओणम

Like Dislike Button
2Votes
ओणम Onam
ओणम केरल का एक प्रमुख त्योहार है। ओणम केरल का एक राष्ट्रीय पर्व भी है। ओणम का उत्सव सितम्बर में राजा महाबली के स्वागत में प्रति वर्ष आयोजित किया जाता है जो दस दिनों तक चलता है। उत्सव त्रिक्काकरा (कोच्ची के पास) केरल के एक मात्र वामन मंदिर से प्रारंभ होता है। ओणम में प्रत्येक घर के आँगन में फूलों की पंखुड़ियों से सुन्दर सुन्दर रंगोलिया (पूकलम) डाली जाती हैं। युवतियां उन रंगोलियों के चारों तरफ वृत्त बनाकर उल्लास पूर्वक नृत्य (तिरुवाथिरा कलि) करती हैं। इस पूकलम का प्रारंभिक स्वरुप पहले (अथम के दिन) तो छोटा होता है परन्तु हर रोज इसमें एक और वृत्त फूलों का बढ़ा दिया जाता है। इस तरह बढ़ते बढ़ते दसवें दिन (तिरुवोनम) यह पूकलम वृहत आकार धारण कर लेता है। इस पूकलम के बीच त्रिक्काकरप्पन (वामन अवतार में विष्णु), राजा महाबली तथा उसके अंग रक्षकों की प्रतिष्ठा होती है जो कच्ची मिटटी से बनायीं जाती है।
ओणम मैं नोका दौड जैसे खेलों का आयोजन भी होता है।
ओणम एक सम्पूर्णता से भरा हुआ त्योहार है जो सभी के घरों को ख़ुशहाली से भर देता है।

Read More

अगर आपको इस सूची में कोई भी कमी दिखती है अथवा आप कोई नयी प्रविष्टि इस सूची में जोड़ना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए कमेन्ट बॉक्स में जरूर लिखें |

Keywords:

भारतीय त्यौहार भारतीय महोत्सव सूची प्रमुख भारतीय महोत्सव चित्र सहित भारतीय धार्मिक महोत्सव