पाकिस्तान के प्रधानमंत्री (वज़ीर-ए आज़म )पाकिस्तान, इस्लामी गणतंत्र पाकिस्तान की सरकार का मुखिया होता है। राष्ट्रीय विधानसभा के सदस्यों द्वारा प्रधानमंत्री का चयन किया जाता है। प्रधानमंत्री का ये पद पाँच वर्ष के लिए होता है। प्रधानमंत्री अपनी सहायता के लिए मंत्रियों का चयन करता है, अब आपको ऐसे ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों के बारे में बताते है, जो आपके लिए महत्व पूर्ण है।

  1. लियाकत अली खान

    नवबजादा लियाक़त अली ख़ान पाकिस्तान के प्रथम प्रधानमंत्री थे जिन्होंने पाकिस्तान आंदोलन के दौरान मुहम्मद अली जिन्ना के साथ कई दौरे किये। भारत के प्रथम वाणिज्य मंत्री भी थे (अंग्रेज़ो के अधीन भारत)। इनका परिवार अंग्रेजों से अच्छे संबंध रखता था। सन् 1951 में रावलपिण्डी में इनका क़त्ल हो गया - जिसकी गुत्थी अभी तक नहीं सुलझी है। साद अकबर बाबरक नामक हत्यारा एक अफ़ग़ान था। यह पाकिस्तान के प्रथम रक्षा मंत्री भी रहे और पाकिस्तान के प्रथम विदेश मंत्री भी रहे |

    Read More

  2. सर ख्वाजा नजीमुद्दीन

    खवजा नज़ीमुद्दीन (19 जुलाई 1894-22 अक्टोबर 1964) पाकिस्तान के दूसरे गवनर जेर्नल थे। बाद में वो पाकिस्तान के दूसरे प्रधानमंत्री भी बने।

    Read More

  3. मोहम्मद अली बोगरा

    मुहम्मद अली बोगरा (1909-1963) पाकिस्तान के तीसरे प्रधानमंत्री थे।

    Read More

  4. चौधरी मोहम्मद अली

    चौधरी मुहम्मद अली (1905-1980) पाकिस्तान के चोथे प्रधानमंत्री थे।

    Read More

  5. हुसैन शहीद सुहरावर्दी

    Huseyn Shaheed Suhrawardy was a Bengali politician and a lawyer who was the fifth Prime Minister of Pakistan, serving from his appointment on 12 September 1956 until his resignation on 17 October 1957.

    Read More

  6. इब्राहिम इस्माइल चुंदरीगर

    इब्राहिम इस्माइल चनदरीगर, एक पाकिस्तानी राजनीतिज्ञ एवं पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री थे। वे 1897 में अहमदाबाद में पैदा हुए थे। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री हासिल की और तत्पश्चात अहमदाबाद में उन्होंने पेशेवर वकालत शुरू की। वे 1924 में अहमदाबाद नगर निगम के सदस्य हुए और 1937 में बम्बई विधानसभा के सदस्य चुने गए। अगले साल बम्बई विधानसभा में मुस्लिम लीग पार्टी के उप नेता चुने गए। 1940 से 1945 ई तक वे बम्बई मुस्लिम लीग के अध्यक्ष भी रहे। 1947 में जब मुस्लिम लीग भारत की अंतरिम सरकार में शामिल हुई तो लीग के प्रतिनिधि के रूप में वाणिज्य मंत्रालय का कलमदान उनके सौंपा गया। उसी साल जेनोवा में सहयोगी राष्ट्रों की वाणिज्यिक सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया। विभाजन के बाद पाकिस्तान की केंद्रीय मंत्रिमंडल में अगस्त 1947 से मई 1948 और अगस्त 1955 ताकि अगस्त 1956 मंत्री रहे।

    Read More

  7. सर फिरोज खान नून

    फिरोज खान नून, एक पाकिस्तानी राजनेता, एवं पाकिस्तान के 7वें प्रधानमंत्री थे। उनका जन्म 7 मई 1893 ई। को पाकीसतान के जिला सरगोधा की तहसील भलवाल के गांव हमोकह में हुआ था। वह सिर मोहम्मद हेयान नून के पुत्र थे।
    उनहोंने प्रारंभिक शिक्षा पब्लिक स्कूल भेरह जिले सरगोधा से प्राप्त की। 1905 में उन्होंने, एॅलिसन कॉलेज लाहौर में दाखिला लिया। 1912 में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए इंग्लैंड चले गए। 1916 में विलियम कॉलेज ऑक्सफोर्ड से हिस्ट्री में बीए किया। 1917 में बैरिस्टर बनकर वापस भारत चले आए। जन 1918 ई। में सरगोधा से अपनी प्रैक्टिस शुरू की। जन 1921 से जनवरी 1927 हाईकोर्ट में प्रैक्टिस करते रहे।

    Read More

  8. नुरुल अमीन

    नूरुल अमीन पाकिस्तान के आठवें प्रधान मन्त्री थे। उनका जन्म सन् 1893 में हुआ था। वे पाकिस्तान मुस्लिम लीग के सदस्य थे व 7 दिसंबर 1971 से 20 दिसंबर 1971 तक पाकिस्तान के प्रधान मंत्री रहे। उनका निधन 1974 में हुआ।

    Read More

  9. जुल्फिकार अली भुट्टो

    ज़ुल्फ़िक़ार अली भुट्टो (उर्दू व सिंधीذوالفقار علی بھٹو, जन्म: 5 जनवरी 1928 - मौत: 4 अप्रैल 1979पाकिस्तान के प्रधान मन्त्री थे। वे 1973 से 1977 तक प्रधानमंत्री रहे और इससे पहले अय्यूब ख़ान के शासनकाल में विदेश मंत्री रहे थे। लेकिन अय्यूब ख़ान से मतभेद होने के कारण उन्होंने अपनी नई पार्टी (पीपीपी) 1967 में बनाई। 1962 के भारत-चीन युद्ध, 65 और 71 के पाकिस्तान युद्ध, तीनों के समय वे महत्वपूर्ण पदों पर आसीन थे। 1965 के युद्ध के बाद उन्होंने ही पाकिस्तानी परमाणु कार्यक्रम का ढाँचा तैयार किया था। पूर्व पाकिस्तानी नेता बेनज़ीर भुट्टो इन्ही की बेटी थी। पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट के एक फ़ैसले पर उन्हें 1979 में फ़ाँसी पर लटका दिया गया था जिसमें सैन्य शासक ज़िया उल हक़ का हाथ समझा जाता है।

    Read More

  10. मुहम्मद खान जूनो

    मोहम्मद खान जुनेजो, एक कद्दावर सिंधी राजनेता एवं पाकिस्तान के दसवें प्रधानमंत्री थे। वे 18 अगस्त 1932 को पैदा हुए।

    Read More

  11. बेनज़ीर भुट्टो

    पहला कार्यकाल - (2 December 1988 से 6 August 1990)

    बेनज़ीर भुट्टो(उर्दूبینظیر بھٹو) (जन्म 21 जून 1953,कराची- मृत्यु 27 दिसम्बर 2007,रावलपिंडीपाकिस्तान की 11वीं (1988 में) व 13वीं (1993 में) प्रधानमंत्री थीं। रावलपिंडी में एक राजनैतिक रैली के बाद आत्मघाती बम और गोलीबारी से दोहरा अक्रमण कर, उनकी हत्या कर दी गई। पूरब की बेटी के नाम से जानी जाने वाली बेनज़ीर किसी भी मुसलिम देश की पहली महिला प्रधानमंत्री तथा दो बार चुनी जाने वाली पाकिस्तान की पहली प्रधानमंत्री थीं। वे पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की प्रतिनिधि तथा मुसलिम धर्म की शिया शाखा की अनुयायी थीं।

    Read More

  12. नवाज शरीफ

    पहला कार्यकाल - (6 November 1990 से 18 July 1993)

    मियां मोहम्मद नवाज़ शरीफ़ (उर्दू: میاں محمد نواز شریف) (जन्म लाहौर; 25 दिसम्बर 1949), पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (पीएमएल) के वरिष्ठ नेता है। वे दो बार पहले भी प्रधानमन्त्री रह चुके हैं – 6 नवम्बर 1990 से 18 जुलाई 1993 तक (12 वें प्रधानमंत्री) और 17 फ़रवरी 1997 से 12 अक्टूबर 1999 (14 वें प्रधानमंत्री)। शरीफ पाकिस्तान के पहले ऐसे नेता हैं, जो 5 जून 2013 काे तीसरी बार 27 वें प्रधानमंत्री बने हैं। 2016 मे पानमा पेपर लीक में नाम आने के बाद 2017 में सुप्रीम काेर्ट ने प्रधानमंत्री के पद के लिए अयोग करार दिया 28 जुलाई 2017 में नवाज़ शरीफ काे प्रधानमंत्री के पद से हटाना पड़ा , नवाज़ शरीफ को वर्ष 2000 में तत्कालीन सैन्य शासक मुशर्रफ़ ने निर्वासित कर दिया था, इसके पहले उनकी निर्वाचित सरकार को भी बर्खास्त कर दिया गया था। इस तख्तापलट के बाद पाकिस्तान की आतंक-विरोधी अदालत ने नवाज़ शरीफ़ को भ्रष्टाचार के अपराध में दोषी करार दिया था। सऊदी अरब की मध्यस्तता से शरीफ़ को जेल से बचाकर सऊदी अरब के जेद्दा नगर में निर्वासित किया गया।
    अगस्त 23, 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ़ को पाकिस्तान वापस आने की इजाज़त दी। सितम्बर 10, 2007 को शरीफ सात वर्षों के निर्वासन के बाद इस्लामाबाद वापस लौटे, पर उन्हें हवाई-अड्डे से ही तुरन्त जेद्दा वापस भेज दिया गया।                   

    Read More

  13. बेनज़ीर भुट्टो

    दूसरा कार्यकाल – (19 October1993 से 5 November 1996)

    पहला कार्यकाल - (2 December 1988 से 6 August 1990)

    बेनज़ीर भुट्टो(उर्दूبینظیر بھٹو) (जन्म 21 जून 1953,कराची- मृत्यु 27 दिसम्बर 2007,रावलपिंडीपाकिस्तान की 11वीं (1988 में) व 13वीं (1993 में) प्रधानमंत्री थीं। रावलपिंडी में एक राजनैतिक रैली के बाद आत्मघाती बम और गोलीबारी से दोहरा अक्रमण कर, उनकी हत्या कर दी गई। पूरब की बेटी के नाम से जानी जाने वाली बेनज़ीर किसी भी मुसलिम देश की पहली महिला प्रधानमंत्री तथा दो बार चुनी जाने वाली पाकिस्तान की पहली प्रधानमंत्री थीं। वे पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की प्रतिनिधि तथा मुसलिम धर्म की शिया शाखा की अनुयायी थीं।

    Read More

  14. नवाज शरीफ

    दूसरा कार्यकाल – (17 February 1997 से 12 October 1999)

    पहला कार्यकाल - (6 November 1990 से 18 July 1993)

    मियां मोहम्मद नवाज़ शरीफ़ (उर्दू: میاں محمد نواز شریف) (जन्म लाहौर; 25 दिसम्बर 1949), पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (पीएमएल) के वरिष्ठ नेता है। वे दो बार पहले भी प्रधानमन्त्री रह चुके हैं – 6 नवम्बर 1990 से 18 जुलाई 1993 तक (12 वें प्रधानमंत्री) और 17 फ़रवरी 1997 से 12 अक्टूबर 1999 (14 वें प्रधानमंत्री)। शरीफ पाकिस्तान के पहले ऐसे नेता हैं, जो 5 जून 2013 काे तीसरी बार 27 वें प्रधानमंत्री बने हैं। 2016 मे पानमा पेपर लीक में नाम आने के बाद 2017 में सुप्रीम काेर्ट ने प्रधानमंत्री के पद के लिए अयोग करार दिया 28 जुलाई 2017 में नवाज़ शरीफ काे प्रधानमंत्री के पद से हटाना पड़ा , नवाज़ शरीफ को वर्ष 2000 में तत्कालीन सैन्य शासक मुशर्रफ़ ने निर्वासित कर दिया था, इसके पहले उनकी निर्वाचित सरकार को भी बर्खास्त कर दिया गया था। इस तख्तापलट के बाद पाकिस्तान की आतंक-विरोधी अदालत ने नवाज़ शरीफ़ को भ्रष्टाचार के अपराध में दोषी करार दिया था। सऊदी अरब की मध्यस्तता से शरीफ़ को जेल से बचाकर सऊदी अरब के जेद्दा नगर में निर्वासित किया गया।
    अगस्त 23, 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ़ को पाकिस्तान वापस आने की इजाज़त दी। सितम्बर 10, 2007 को शरीफ सात वर्षों के निर्वासन के बाद इस्लामाबाद वापस लौटे, पर उन्हें हवाई-अड्डे से ही तुरन्त जेद्दा वापस भेज दिया गया।                   

    Read More

  15. मीर ज़फ़रुल्लाह ख़ान जमाली

    मीर ज़फ़रुल्लाह खान जमाली पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री हैं। वह एक जनवरी 1944 को बलूचिस्तान के जिला नसीरआबाद के गांव रोझान जमाली में पैदा हुए। प्रारंभिक शिक्षा रोझान जमाली में ही प्राप्त की। बाद में सेंट लॉरेंस कॉलेज घोड़ा गली मरी, एलिसन कॉलेज लाहौर और 1965 में गवर्नमेंट कॉलेज लाहौर से इतिहास में स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की। ज़फ़रुल्लाह जमाली प्रांत बलूचिस्तान द्वारा अब तक पाकिस्तान के एकमात्र प्रधानमंत्री हैं।

    ज़फ़रुल्लाह जमाली अंग्रेजीउर्दूसिंधीबलोचीपंजाबी और पश्तो भाषा में महारत रखते हैं।

    Read More

  16. चौधरी शुजात हुसेन

    चौधरी शुजात हुसैन, पाकिस्तान के 16वें प्रधान मंत्री थे। गुजरात से उद्भव वे अस्थायी समय के लिये शौकत अज़ीज़ को समायोजित करने के लिये प्रधान मन्त्रि बने। वह पाकिस्तान मुस्लिम लीग के प्रस्तुत और निर्भर समूह अध्यक्ष बन कर अपना सेवा दे रहे हैं।

    Read More

  17. शौकत अज़ीज़

    शौकत अज़ीज़ पाकिस्तान के पूर्व प्रधान मंत्री, वित्त मंत्री, राजनेता और वित्त विशेषज्ञ हैं। वे अक्टूबर 1999 में पाकिस्तान के वित्त मंत्री बने, तथा जबकि 6 जून 2004 को पूर्व प्रधान मंत्री मीर जफरुल्लाह खान जमाली ने इस्तीफा दे दिया था, तबतक इस पद पर विराजमान रहें। इसके अलावा उन्होंने अगस्त 2004 से नवंबर 2007 तक पाकिस्तान के अन्तरिम प्रधानमंत्री का पद संभाला था।

    Read More

  18. यूसुफ़ रज़ा गिलानी

    यूसुफ रज़ा गिलानी पाकिस्तान के एक राजनितिज्ञ हैं। वे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रहे। पाकिस्तान की राष्ट्रीय विधानसभा में वे पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी से संबद्ध सदस्य के रूप में पंजाब (पाकिस्तान) के NA-151 निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे पाकिस्तान के सबसे लंबी अवधि तक पद पर बने रहने वाले निर्वाचित प्रधानमंत्री हैं। पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने 26 अप्रैल 2012 को उन्हें पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले को फिर से खोलने के लिए स्विस अधिकारियों को पत्र लिखने के आदेश का पालन न करने के कारण अवमानना का दोषी करार दिया। लेकिन वे अपने पद पर बने रहे। 19 जून को सर्वोच्च न्यायालय ने दूसरा आदेश जारी करते हुए उन्हें गत 26 अप्रैल से ही पद पर बने रहने के लिए अयोग्य ठहराया और निर्वाचन आयोग को इस संबंध में अधिसूचना जारी करने का निर्देश दिया।

    Read More

  19. राजा परवेज़ अशरफ़

    राजा परवेज़ अशरफ़ (उर्दू: راجا پرویز اشرف जन्म: 26 दिसम्बर 1950) पाकिस्तान के सत्रहवें एवं सम्प्रति वर्तमान प्रधानमन्त्री हैं। इससे पूर्व वे यूसुफ रजा गिलानी की कैबिनेट में मार्च 2008 से फरवरी 2011 तक जल एवं ऊर्जा मन्त्री के रूप में कार्य कर चुके हैं। अशरफ़ पाकिस्तान के रावलपिण्डी शहर से ताल्लुक रखते हैं। वे पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं। गिलानी को जब पाकिस्तानी उच्चतम न्यायालय ने प्रधान मन्त्री पद के लिये अयोग्य करार दिया उसके बाद ही उन्होंने 22 जून 2012 को पदभार ग्रहण किया। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी द्वारा उन्हें पाकिस्तान के प्रधान मन्त्री पद के लिये प्रत्याशी बनाया। अशरफ़ ने यह चुनाव नेशनल असेम्बली में 89 के मुकाबले 211 मतों से जीत लिया और पाकिस्तान के प्रधान मन्त्री पद की बागडोर सम्हाली। अशरफ़ पाकिस्तान की राष्ट्रीय विधानसभा में पाकिस्तानी पंजाब के गूजर खान निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं।

    Read More

  20. नवाज शरीफ

    तीसरा कार्यकाल – (5 June 2013 से 28 July 2017)

    दूसरा कार्यकाल – (17 February 1997 से 12 October 1999)

    पहला कार्यकाल - (6 November 1990 से 18 July 1993)

    मियां मोहम्मद नवाज़ शरीफ़ (उर्दू: میاں محمد نواز شریف) (जन्म लाहौर; 25 दिसम्बर 1949), पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (पीएमएल) के वरिष्ठ नेता है। वे दो बार पहले भी प्रधानमन्त्री रह चुके हैं – 6 नवम्बर 1990 से 18 जुलाई 1993 तक (12 वें प्रधानमंत्री) और 17 फ़रवरी 1997 से 12 अक्टूबर 1999 (14 वें प्रधानमंत्री)। शरीफ पाकिस्तान के पहले ऐसे नेता हैं, जो 5 जून 2013 काे तीसरी बार 27 वें प्रधानमंत्री बने हैं। 2016 मे पानमा पेपर लीक में नाम आने के बाद 2017 में सुप्रीम काेर्ट ने प्रधानमंत्री के पद के लिए अयोग करार दिया 28 जुलाई 2017 में नवाज़ शरीफ काे प्रधानमंत्री के पद से हटाना पड़ा , नवाज़ शरीफ को वर्ष 2000 में तत्कालीन सैन्य शासक मुशर्रफ़ ने निर्वासित कर दिया था, इसके पहले उनकी निर्वाचित सरकार को भी बर्खास्त कर दिया गया था। इस तख्तापलट के बाद पाकिस्तान की आतंक-विरोधी अदालत ने नवाज़ शरीफ़ को भ्रष्टाचार के अपराध में दोषी करार दिया था। सऊदी अरब की मध्यस्तता से शरीफ़ को जेल से बचाकर सऊदी अरब के जेद्दा नगर में निर्वासित किया गया।
    अगस्त 23, 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ़ को पाकिस्तान वापस आने की इजाज़त दी। सितम्बर 10, 2007 को शरीफ सात वर्षों के निर्वासन के बाद इस्लामाबाद वापस लौटे, पर उन्हें हवाई-अड्डे से ही तुरन्त जेद्दा वापस भेज दिया गया।                   

    Read More

  21. शाहिद ख़ाक़ान अब्बासी

    शाहिद खाकान अब्बासी एक पाकिस्तानी राजनेता हैं, जिनका संबंध पाकिस्तान मुस्लिम लीग से है। उन्होंने 1 अगस्त 2017 से 18 अगस्त 2018 तक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पद संभाला था। वे पाकिस्तान की राष्ट्रीय सभा में वह पाकिस्तानी पंजाब के NA-50 निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनका जन्म 28 दिसम्बर 1958 को कराँची में हुआ था।

    Read More

  22. इमरान ख़ान

    मरान ख़ान नियाजी (उर्दूعمران خان نیازی; जन्म 25 नवम्बर 1952) एक पाकिस्तानी राजनीतिज्ञ तथा वर्तमान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और सेवानिवृत्त पाकिस्तानी क्रिकेटर हैं। उन्होंने पाकिस्तानी आम चुनाव, 2018 में बहुमत जीता। वह 2013 से 2018 तक पाकिस्तान की नेशनल असेंबली के सदस्य थे, जो सीट 2013 के आम चुनावों में जीती थीं। इमरान बीसवीं सदी के उत्तरार्द्ध के दो दशकों में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला और 1990 के दशक के मध्य से राजनीतिज्ञ हो गए। वर्तमान में, अपनी राजनीतिक सक्रियता के अलावा, ख़ान एक धर्मार्थ कार्यकर्ता और क्रिकेट कमेंटेटर भी हैं।

    ख़ान, 1971-1992 तक पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के लिए खेले और 1982 से 1992 के बीच, आंतरायिक कप्तान रहे। 1987 के विश्व कप के अंत में, क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद, उन्हें टीम में शामिल करने के लिए 1988 में दुबारा बुलाया गया। 39 वर्ष की आयु में ख़ान ने पाकिस्तान की प्रथम और एकमात्र विश्व कप जीत में अपनी टीम का नेतृत्व किया। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 3,807 रन और 362 विकेट का रिकॉर्ड बनाया है, जो उन्हें 'आल राउंडर्स ट्रिपल' हासिल करने वाले छह विश्व क्रिकेटरों की श्रेणी में शामिल करता है।

    अप्रैल 1996 में ख़ान ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (न्याय के लिए आंदोलन) नाम की एक छोटी और सीमांत राजनैतिक पार्टी की स्थापना की और उसके अध्यक्ष बने और जिसके वे संसद के लिए निर्वाचित केवल एकमात्र सदस्य हैं। उन्होंने नवंबर 2002 से अक्टूबर 2007 तक नेशनल असेंबली के सदस्य के रूप में मियांवाली का प्रतिनिधित्व किया। ख़ान ने दुनिया भर से चंदा इकट्ठा कर, 1996 में शौकत ख़ानम मेमोरियल कैंसर अस्पताल और अनुसंधान केंद्र और 2008 में मियांवाली नमल कॉलेज की स्थापना में मदद की।

    Read More

अगर आपको इस सूची में कोई भी कमी दिखती है अथवा आप कोई नयी प्रविष्टि इस सूची में जोड़ना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए कमेन्ट बॉक्स में जरूर लिखें |