विद्याधर सूरजप्रसाद नैपाल - V. S. Naipaul

वी.एस. नायपॉल या विद्याधर सूरजप्रसाद नायपॉल (१७ अगस्त सन १९३२ – ११ अगस्त २०१८) आधुनिक युग के प्रसिद्ध अंग्रेजी साहित्यकार थे। उन्हें नूतन अंग्रेज़ी छन्द का गुरू कहा जाता है। २००८ में दी टाईम्स ने वी एस नैपाल को अपनी ५० महान ब्रिटिश साहित्यकारो की सूची मे ७वाँ स्थान दिया। उन्हें २००१ मे साहित्य मे नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया।

वे कई साहित्यिक पुरस्कारों से सम्मानित किये जा चुके हैं, जिनमें जोन लिलवेलीन रीज पुरस्कार (१९५८), दी सोमरसेट मोगम अवार्ड (१९८०), दी होवथोरडन पुरस्कार (1964), दी डबलु एच स्मिथ साहित्यिक अवार्ड (१९६८),] बुकर सम्मान (१९७१), तथा दी डेविड कोहेन पुरस्कार (१९९३, ब्रिटिश साहित्य मे जीवनपर्यन्त कार्य के लिए), प्रमुख हैं।

विद्याधर सूरजप्रसाद नैपाल के बारे मे अधिक पढ़ें

विद्याधर सूरजप्रसाद नैपाल को निम्न सूचियों मे शामिल किया गया है :

9 भारतीय नोबेल पुरुस्कार विजेता - 9 Indians who won Nobel Prize

नोबेल फाउंडेशन द्वारा स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में वर्ष १९०१ में शुरू किया गया यह शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है। इस पुरस्कार के रूप में प्रशस्ति-पत्र के साथ 14 लाख डालर की राशि प्रदान की जाती है। अल्फ्रेड नोबेल ने कुल ३५५ आविष्कार किए जिनमें १८६७ में किया गया डायनामाइट का आविष्कार भी था। नोबेल को डायनामाइट ... अधिक पढ़ें


Leave a Comment