लिख्टेंश्टाइन - Liechtenstein

लीख़्टेनश्टाइन (जर्मन: Fürstentum Liechtenstein) पश्चिमी यूरोप में स्थित एक छोटा लैंडलॉक देश है। इसकी सीमा पश्चिम और दक्षिण में स्विटजरलैंड और पूर्व में आस्ट्रिया से मिलती है। महज 160 वर्ग किमी (करीब 61.7 वर्ग मील) वाले इस देश की आबादी करीब 35,000 है। यहां की राजधानी वादुज और सबसे बड़ा शहर श्चान है।

लीख़्टेनश्टाइन दुनिया का जर्मन भाषी इकलौता अल्पाइन राज्य है, जो पूरी तरह से आलप्स पर स्थित है। यह इकलौता जर्मनभाषी राज्य है, जिसकी सीमा जर्मनी से नहीं मिलती है। यह संवैधानिक राजशाही है, जो 11 निगम इकायों में विभाजित है। पर्वतीय भू-संरचना की वजह से लीख़्टेनश्टाइन शीत खेलों के लिए लोकप्रिय स्थल है। मजबूत वित्तीय व्यवस्था वाले इस देश को कर के मामले में स्वर्ग माना जाता है। यह यूरोपीय मुक्त व्यापार संगठन का सदस्य है, लेकिन यूरोपीय संघ का हिस्सा नहीं है।

इसकी पश्चिमी सीमा पर राइन नदी बहती है। यहाँ के निम्न प्रदेश का वार्षिक औसत ताप लगभग ८डिग्री सें. रहता है। यहाँ की वार्षिक औसत वर्षा ३५ इंच होती है और लगभग ३५ दिन हिमपात भी होता है।

यहाँ की राजधानी फाडूट्स (Vaduz) है, लिख्टेंश्टाइन की प्रमुख भाषा जर्मन है। यहाँ ईसाई धर्म प्रमुख है। राइन घाटी में मक्का एवं अन्य खाद्यान्न, आलू तथा बगीचों में उत्पन्न होनेवाली फसलें उगाई जाती हैं। अंगूर एव फलों का भी उत्पादन होता है। राज खनिजों से रहित है। उद्योगों में संगणक यंत्र, चश्मे के कांच, माइक्रोमीटर, सिलाई की मशीनों की सूइयाँ, बुनाई की मशीनें एवं कपड़े का कुछ मात्रा में उत्पादन होता है।

लिख्टेंश्टाइन के बारे मे अधिक पढ़ें

लिख्टेंश्टाइन को निम्न सूचियों मे शामिल किया गया है :

42 यूरोपीय देश - 42 European Countries

यूरोप पृष्ठ क्षेत्रफल के आधार पर विश्व का दूसरा सबसे छोटा महाद्वीप है, इसका क्षेत्रफल के 10,180,000 वर्ग किलोमीटर (3,930,000 वर्ग मील) है जो पृथ्वी की सतह का २% और इसके भूमि क्षेत्र का लगभग 6.8% है। यूरोप के 50 देशों में, रूस क्षेत्रफल और आबादी दोनों में ही सबसे बड़ा है, जबकि वैटिकन नगर ... अधिक पढ़ें


दुनिया के 15 सबसे छोटे देश - 15 Smallest Countries in the World

अगर हम आपको बताएं कि दुनिया में कुछ ऐसे भी देश है, जो भारत के किसी शहर या कस्बे से भी छोटे हैं, तो शायद आप मजाक समझेंगे लेकिन यह कोई मजाक नहीं बल्कि यह सच है | दुनिया में कुछ ऐसे देश भी हैं जो क्षेत्रफल और जनसँख्या के हिसाब से बहुत छोटे हैं ... अधिक पढ़ें


Leave a Comment

Share via
Copy link