तमिलनाडु के तंजावुर का बृहदेश्वर अथवा बृहदीश्वर मन्दिर विश्व के प्रमुख ग्रेनाइट मंदिरों मे से एक हिंदू मंदिर है। इसका निर्माण 1003-1010 ई. के बीच चोल शासक प्रथम राजराज चोल ने करवाया था। बृहदेश्वर मंदिर अपनी भव्यता, वाश्तुशिल्प और केन्द्रीय गुम्बद से लोगों को आकर्षित करता है। विश्व में यह अपनी तरह का पहला और एकमात्र मंदिर है जो कि ग्रेनाइट का बना हुआ है। भगवान शिव को समर्पित बृहदीश्वर मंदिर शैव धर्म के अनुयायियों के लिए पवित्र स्थल रहा है। इसके दुर्ग की ऊंचाई विश्व में सर्वाधिक है और दक्षिण भारत की वास्तुकला की अनोखी मिसाल इस मंदिर को यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल घेषित किया है।

बृहदेश्वर मंदिर तंजावुर, तमिलनाडु के बारे मे अधिक पढ़ें

बृहदेश्वर मंदिर तंजावुर, तमिलनाडु को निम्न सूचियों मे शामिल किया गया है :

12 मशहूर भारतीय हिन्दू मंदिर – 12 Famous Indian Hindu Temples

मूर्तिकला, वास्तुकला और स्थापत्य कला के लिए चर्चित रही भारत की प्राचीन सभ्यता एवं संस्कृति ने खुद को अपनी सुन्दरता को इमारतों, महलों के साथ...